संस्कृति एवं ज्योतिष

दशहरे के दिन इस पक्षी का दिखाना है बेहद शुभ, घर में सुख-समृद्धि का होगा वास और दरिद्रता का नाश

आज दशहरा है। आज ही के दिन भगवान श्रीराम ने रावण का वध किया था, जिस वजह से देश भर में दशहरे का यह पर्व मनाया जाता है। इस पर्व को बुराई पर अच्छाई की जीत के रूप में देखा जाता है। हालांकि इस पर्व को लेकर कई मान्यताएं हैं, जिनमे से एक मान्यता यह भी है कि इस दिन यदि कोई नीलकंठ पक्षी के दर्शन कर लेता है तो उसका सौभाग्य खुल जाता है। कहते हैं नीलकंठ पक्षी के दर्शन से आपके सभी बिगड़े काम सही हो जाते हैं और आपके जीवन में सुख समृद्धि भी आती है। ऐसी मान्यता क्यों है चलिए हम आपको बताते हैं।

इस वजह से इस पक्षी का दर्शन माना जाता है शुभ
पौराणिक कहानियों के अनुसार, भगवान राम जब लंकापति रावण का वध करने जा रहे थे, तो बीच रास्ते उन्हें नीलकंठ पक्षी के दर्शन हुए थे। ऐसी मान्यता है कि इस पक्षी के दर्शन की वजह से ही उन्हें रावण का वध करने में सफलता हासिल हुई।

नीलकंठ के दिखने पर इस मंत्र का करें जाप
दशहरे के दिन नीलकंठ पक्षी के दिखने पर करें इस मंत्र का उच्चारण, “कृत्वा नीराजनं राजा बालवृद्धयं यता बलम्। शोभनम खंजनं पश्येज्जलगोगोष्ठसंनिघौ।।नीलग्रीव शुभग्रीव सर्वकामफलप्रद। पृथ्वियामवतीर्णोसि खञ्जरीट नमोस्तु तो।।” यानी खंजन पक्षी, तुम इस धरती पर आये हो, तुम्हारा गला काला और शुभ है, तुम सभी इच्छाओं को देने वाले हो, मैं तुम्हे तुम्हें नमस्कार करता हूं।

दर्शन करने के फायदे
हिंदू धर्म में ऐसी मान्यता है कि दशहरा के दिन अगर आपको नीलकंठ पक्षी के दर्शन हो जायें तो वह आपके लिए बेहद शुभ है। इसके दर्शन मात्रा से आपकी हर मनोकामना पूरी होगी। साथ ही आपके हर बिगड़े काम भी बन जायेंगे। और आपके जीवन में सुख समृद्धि भी आती है।

अगर न दिखे नीलकंठ तो यह तरीका अपनाये
आसमान में दिन-प्रतिदिन पक्षियों की घटती संख्या को देखते हुए ये तो नहीं कहा जा सकता है कि आपको नीलकंठ पक्षी के दर्शन जरूर हो ही जायें। लेकिन ऐसी स्थिति में आप एक काम जरूर कर सकते हैं । आप नीलकंठ पक्षी का चित्र इंटरनेट से डाउनलोड करके, उसके दर्शन कर सकते हैं।

Back to top button
error: Content is protected !!