fbpx
चंदौलीचुनाव 2024

loksabha Election 2024 : आचार संहिता का पालन कराने में हथियार बनेगा सी-विजिल एप, डीएम की चंदौलीवासियों से अपील, बेझिझक करें शिकायत, 100 मिनट में होगा निस्तारण

Story Highlights
  • मोबाइल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है एप्लिकेशन  लाइव फोटो अथवा लाइव वीडियो भेजकर सकते हैं आचार संहिता उल्लंघन की शिकायत आरओ, एआरओ के पास पहुंचेगी शिकायत, 100 मिनट के अंदर होगा निस्तारण 
  • मोबाइल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है एप्लिकेशन 
  • लाइव फोटो अथवा लाइव वीडियो भेजकर सकते हैं आचार संहिता उल्लंघन की शिकायत
  • आरओ, एआरओ के पास पहुंचेगी शिकायत, 100 मिनट के अंदर होगा निस्तारण 

 

चंदौली। लोकसभा चुनाव में आदर्श आचार संहिता का अनुपालन कराने में सी-विजिल एप्लिकेशन हथियार बनेगा। इसके जरिये आमजन आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायत कर सकते हैं। 100 मिनट के अंदर शिकायतों का निस्तारण किया जाएगा। कोई भी व्यक्ति मोबाइल में गूगल प्ले स्टोर या एप स्टोर से सी-विजिल एप डाउनलोड कर सकता है। इसके जरिये आदर्श चुनाव आचार संहिता के उल्लघंन की शिकायत, लाइव फोटो अथवा लाइव वीडियो अपलोड कर की जा सकती है।

शिकायत की निगरानी कैसे करें

आदर्श चुनाव आचार संहिता के उल्लघंन होने पर सी-विजिल एप में अपने मोबाइल नम्बर से लॉगिन करके नागरिक अपने शिकायत की सतत निगरानी भी कर सकता है।

 

नाम और मोबाइल नंबर देना अनिवार्य है कि नहीं

सी-विजिल एप पर शिकायत करने हेतु नाम व मोबाइल नम्बर की कोई बाध्यता नहीं है, परन्तु अगर शिकायतकर्ता द्वारा अपना नाम व मोबाइल नम्बर देता है तो शिकायतकर्ता एप के माध्यम से अपनी शिकायत की निगरानी भी कर सकता है।

 

शिकायत निवारण की प्रक्रिया

शिकायत निस्तारण की नियत समयावधि 100 मिनट है। शिकायत दर्ज होने पर सम्बन्धित रिटर्निंग आफिसर द्वारा अपने नजदीक के उड़नदस्ता टीम (एफएसटी) को शिकायत स्थल पर भेजा जाता है। शिकायत को निर्धारित करके सम्बन्धित रिटर्निंग आफिसर के पोर्टल पर अग्रसारित किया जाता है तथा सम्बन्धित रिटर्निंग आफिसर द्वारा शिकायत के निस्तारण के क्रम में निर्णय लिया जाता है।

 

सी-विजिल एप में दर्ज होने वाली शिकायत

आम तौर पर सी-विजिल एप में धनराशि वितरण, गिफ्ट / कूपन वितरण, शराब वितरण आदि शिकायतों के अतिरिक्त बिना अनुमति पोस्टर, बैनर लगाना, बिना अनुमति बैठक करना, बिना अनुमति के प्रचार में गाड़ी लगाना, धार्मिक तथा उन्मादी भाषणबाजी करने सम्बन्धी परिवाद अंकित किए जाते हैं।

Back to top button
error: Content is protected !!