fbpx
क्राइमचंदौली

Chandauli News : धानापुर पुलिस के हत्थे चढ़े नकली नोटों के सौदेबाज, 20 हजार में खरीदते थे एक लाख रुपये के नोट, खपाने पर 25 हजार की होती थी कमाई

चंदौली। नकली नोटों के दो सौदेबाज पुलिस टीम के हत्थे चढ़े। दोनों शातिर अभियुक्तों के पास से पुलिस ने 1.18 लाख रुपये की नकली करेंसी बरामद की। दोनों 20 हजार रुपये में एक लाख की नकली करेंसी खरीदते थे। एक लाख खपाने पर 25 हजार रुपये की कमाई होती थी। पुलिस दोनों से पूछताछ के साथ ही उनके पूरे रैकेट को खंगालने में जुटी है।

 

धानापुर एसओ प्रशांत कुमार सिंह को सूचना मिली कि नकली करेंसी का सौदा करने वाले दो लोग अवाजापुर नहर पुलिया के पास मौजूद हैं। इस पर पुलिस एक्टिव हो गई और घेरेबंदी कर दोनों को धर-दबोचा। पकड़े गए आरोपितों ने अपना नाम पता अमरेश पाठक पुत्र शिवमूरत पाठक निवासी ग्राम बथावर थाना सकलडीहा और अरविन्द यादव पुत्र महेन्द्र यादव निवासी ग्राम कैलावर थाना बलुआ बताया। तलाशी लेने पर अमरेश पाठक के पास से 98900 रूपये (जाली) नोट व दो मोबाइल व एक वाईफाई राऊटर बरामद हुआ। दूसरे अरविन्द यादव के पास से कुल 19200 रूपये जाली नोट तथा एक मोबाइल बरामद हुआ। पुलिस ने बताया कि जालसाजों के पास मिली नोटों में RBI लिखी तार मौजूद नहीं है। पूछताछ में बाताया कि कुछ स्थानीय परिचित दोस्त इस धन्धे में संलिप्त हैं। इनसे हम लोग बीस हजार असली रुपये से एक लाख जाली रुपये मंगाते हैं। 25 हजार रुपये लेकर एक लाख रुपये के जाली नोट बाजार में खपा देते हैं। शातिरों ने बताया कि हमें कोई पकड़ न ले इसलिए वाईफाई राऊटर साथ में लिए रहते हैं। इसके जरिये इन्टरनेट के माध्यम से आपस में व्हाट्सअप काल पर बात करते हैं। एक ग्राहक हम लोगों से यहां जाली करेंसी नोट खरीदने के लिए आने वाला था कि उससे पहले पकड़ लिए गए। अपने पास पांच सौ रूपये, दो सौ रूपये और सौ रूपये के जाली करेंसी नोट रखते थे। इसे सैंपल के तौर पर ग्राहकों को दिखाते थे। कभी कभी हम इस नोट को बाजार में किसी भी छोटे व नासमझ दुकानदार को एक दो नोट देकर सामान खरीद लिया करते हैं जिसे कोई गौर नहीं करता हैं और हमारा काम चल जाता है।

Back to top button
error: Content is protected !!