fbpx
ख़बरेंचंदौली

Chandauli News : मीटिंग में अनुपस्थित रहे नगर पालिका ईओ, डीएम ने जारी की कारण बताओ नोटिस, अफसरों को दिए निर्देश

चंदौली। जुलाई से शुरू होने वाले संचारी रोग नियंत्रण अभियान को लेकर कलेक्ट्रेट सभागार में अधिकारियों की मीटिंग हुई। इसमें जिलाधिकारी निखिल टी फुंडे ने अभियान को लेकर तैयारी की समीक्षा की। वहीं मीटिंग में ईओ नगर पालिका पीडीडीयू नगर के अनुपस्थित रहने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कारण बताओ नोटिस जारी की। उन्होंने सभी विभागाध्यक्षों को निर्देशित किया कि अभियान को सफल बनाने के लिए दायित्वों का बखूबी निर्वहन करें। इसमें किसी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

 

जिलाधिकारी ने बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देशित किया गया कि बच्चो एवं अभिभावक बैठक का प्रत्येक विद्यालय वार माईक्रोप्लान बनाते हुए आरबीएसके टीम को उपलब्ध कराएं। आरबीएसके टीम उक्त माईक्रोप्लान के अनुसार उल्लिखित विद्यालय पहुंचकर संचारी रोग के सम्बन्ध में जन जागरूकता एवं इससे बचाव के सम्बन्ध में जानकारी दे। साथ ही उक्त तिथि पर ग्राम पंचायत से समन्वय स्थापित कर ग्रामीण क्षेत्रो में जागरूकता एवं वेक्टर नियन्त्रण हेतु जनमानस को प्रशिक्षित करें। उसकी वीडियों व फोटोग्राफी रिकार्ड कर ग्रुप में शेयर करें। कृषि एंव सिंचाई विभाग को निर्देशित करते हुए लेप्टोस्पायरोसिस पर नियन्त्रण करने हेतु नहरो एवं नालियों के अगल-बगल मे उगने वाले झाड़ियों की कटाई अवश्य रूप से कराएं।

 

जिलाधिकारी ने कहा कि जुलाई माह का संचारी रोग अभियान अति महत्वपूर्ण होता है, जिसमें मौसम में उतार-चढाव कभी वर्षा कभी धूप, पानी का जल जमाव, एवं दूषित पेयजल के कारण कई प्रकार की बीमारिया फैलती है जिस कारण ग्राम पंचायत एवं नगर विकास विभाग (नगर पालिका/नगर पंचायत) की जिम्मेदारी बढ़ जाती है। दोनों विभाग अपने कार्य दायित्व को बहुत ही अच्छे तरह से निर्वहन करें। नगर पालिका पीडीडीयू नगर से किसी प्रतिभागी के न होने के कारण जिलाधिकारी ने गहरी नाराजगी व्यक्त की। साथ ही शोक कास जारी करने के निर्देश दिए।  कहा कि आंगनबाड़ी केदो के आसपास बेहतर सफाई पीने का पानी की व्यवस्था संबंधित विभाग सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी द्वारा स्पष्ट रूप से निर्देश दिया गया कि पेयजल श्रोत के गुणावत्ता परक जॉच कराते हुए यह सुनिश्चित करें कि शुद्ध पेय जल की आपूर्ती बनी रहे ग्रामिण क्षेत्रो में खराब जल श्रोत एवं उससे होने वाली बीमारी होने के पश्चात् बखंड  विकास अधिकारी एवं एडीओ पंचायत जिम्मेदार होंगे।

 

Back to top button
error: Content is protected !!