fbpx
क्राइमचंदौली

Chandauli News : 22 वर्षों से कश्मीर में बंद जयप्रकाश घर लौटा, जानिए कैसे पहुंच गया जम्मू जेल  

चंदौली। कमालपुर कस्बा निवासी मुरली जायसवाल का पुत्र जयप्रकाश जायसवाल 22 वर्ष बाद जम्मू जेल से रिहा होकर बुधवार को घर पहुंचा। ग्राम प्रधान सुदामा जायसवाल अपने साथियों के साथ  जम्मू जेल से रिहा कराकर जयप्रकाश को लेकर घर पहुंचे। इससे परिजनों व शुभचिंतकों में खुशी की लहर दौड़ गई।

 

22 साल पूर्व जयप्रकाश जायसवाल अचानक गायब हो गए थे। परिजनों ने काफ़ी खोजबीन की लेकिन पता नहीं चला। इस बीच उनकी मां का पुत्र के वियोग में देहांत हो गया। पिता भी लकवा से पीड़ित हो गए। छोटे भाई दुर्गाशंकर जायसवाल की 2014 में मृत्यु हो गई। पिछले दिनों जम्मू जीआरपी ने धीना थाने को सूचना भेजी तो पता चला कि जयप्रकाश जम्मू में एके 47 के 34 जिंदा कारतूस के साथ पकड़ा गया था। इसके बाद उसे जेल भेज दिया गया। जैसे ही इसकी जानकारी ग्राम प्रधान व व्यापार मंडल को हुई, उसे छुड़ाने के लिए प्रयासरत हो गए। कानूनी प्रक्रिया के कारण प्रथम बार में छुड़ाने में सफलता नहीं मिली। एक बार फिर अपने साथियों के साथ जम्मू पहुंचे। जहां जमानत पर जयप्रकाश जायसवाल को रिहा कराकर वापस लौटे। परिवार में बेटी की शादी 24 नवंबर को होनी है। इसी बीच जयप्रकाश की रिहाई परिजनों के लिए दोहरी खुशी है। इस दौरान बासुदेव अग्रहरी, खखनू अग्रहरी, वीरेन्द्र अग्रहरी, राजेश जायसवाल, घनश्याम जायसवाल, राजू बिंद, इश्तियाक अहमद, मुन्ना राम, गौरी शंकर, प्यारेलाल जायसवाल आदि रहे।

 

 

Related Articles

Back to top button