fbpx
ख़बरेंचंदौलीराज्य/जिला

chandauli news: मुगलसराय विधायक और सभासद प्रत्याशी के बीच हुई गरमागरम बहस, प्रचार बंद होने के बाद प्रत्याशी को लेकर घूम रहे विधायक का हुआ जबर्दस्त विरोध

चंदौली। निकाय चुनाव प्रचार बंद होने के बाद भी आचार संहिता को दरकिनार करते हुए प्रत्याशी के साथ वार्ड में घूम रहे मुगलसराय विधायक रमेश जायसवाल का सुभाष नगर से सभासद पद की प्रत्याशी आरती यादव और उनके पति श्रवण यादव ने जबर्दस्त विरोध किया। इस दौरान विधायक और प्रत्याशी के बीच जमकर बहस हुई। विधायक ने आरती यादव और उनके पति को अरदब में लेने का प्रयास किया लेकिन उनकी दाल नहीं गली। अंत में विधायक को वापस लौटना पड़ा। श्रवण यादव ने विधायक पर आचार संहिता उल्लंघन और धमकी देने का आरोप लगाया। विरोध के बीच विधायक को वापस लौटना पड़ा। बीजेपी विधायक को पहले भी आचार संहिता उल्लंघन की नोटिस दी जा चुकी है।

 

मुगलसराय विधायक रमेश जायसवाल बुधवार की सुबह पार्टी के सभासद पद प्रत्याशी के साथ सुभाषनगर में डोर-टू-डोर घूम रहे थे। समर्थकों के पास हैंडविंल और पोस्टर भी थे। जैसे ही इसकी जानकारी सभसद पद की प्रत्याशी आरती यादव को हुई वह अपने पति श्रवण यादव और समर्थकों के साथ मौके पर पहुंच गईं। उन्होंने विधायक का विरोध किया और कहा कि प्रचार बंद होने के बाद वह प्रत्याशी से साथ नहीं घूम सकते। आरोप लगाया कि मेरे घर पुलिस भेजी गई थी और प्रचार नहीं करने की हिदायत दी गई थी। लेकिन विधायक आचार संहिता का उल्लंघन कर रहे हैं। हालांकि विधायक ने दलील दी कि वह व्यक्तिगत तौर पर किसी से मिलने आए थे और उन्हें इसके लिए नहीं रोका जा सकता है। विधायक और सभासद प्रत्याशी के बीच काफी देर तक बहस हुई। अंत में विधायक उल्टे पांव वापस लौट गए।

पहले भी आचार संहिता उल्लंघन के मामले में फंस चुके हैं विधायक
मुगलसराय विधायक पर आचार संहिता उल्लंघन का यह दूसरा आरोप लगा है। वैश्य समाज के लोगों को पार्टी प्रत्याशी के पक्ष में मतदान करने की कसम दिलाने का वीडियो वायरल होने के बाद उन्हें एसडीएम स्तर से नोटिस जारी की जा चुकी है। हालांकि प्रभाव का इस्तेमाल करते हुए जवाब देने की तारीख आगे बढ़वा दी।

Back to top button
error: Content is protected !!