क्राइमचंदौलीराज्य/जिला

chandauli news: चंदौली पुलिस की बावरिया गिरोह के साथ हुई मुठभेड़, आठ बदमाशों का हाफ एनकाउंटर, दिन में रेकी और रात में करते थे लूट

चंदौली। चंदौली में दहशत का पर्याय बने बावरिया गिरोह के सदस्यों के साथ पुलिस की दो अलग-अलग स्थानों पर मुठभेड़ हो गई। गुरुवार को तड़के पहले सकलडीहा और सैयदराजा पुलिस ने मोर्चा संभाला फिर अलीनगर पुलिस ने भी बदमाशों की घेराबंदी कर दी। बदमाशों ने भी पुलिस टीम को निशाना बनाया। दोनों तरफ से गोलियां त़ड़तड़ाईं। कुल आठ बदमाशों के पैर में गोली लगी, जिन्हें पकड़ने के बाद पुलिस ने अस्पताल में भर्ती कराया है। गिरोह के कुछ सदस्य अंधेरे का फायदा उठाकर भाग निकले। इसी गिरोह ने कुछ दिन पहले अलीनगर क्षेत्र में कारोबारी के घर में घुसकर लूट का प्रयास किया था।

सकलडीहा, अलीनगर और सैयदराजा पुलिस के साथ हुई मुठभेड़
भोजापुर रेलवे क्रासिंग से सकलडीहा रेलवे स्टेशन जाने वाले मार्ग पर देशी शराब की दुकान के पास स्थित बगीचे में बावरिया गिरोह की मौजूदगी की पुलिस को भनक लगी। सकलडीहा इंस्पेटर ने एसपी को खबर दी। इसकेे बाद सैयदराजा और सदर कोतवाली पुलिस को भी बदमाशों को पकड़ने के लिए लगा दिया गया। पुलिस टीम जैसे ही बदमाशों ने नजदीक पहुंची कि दूसरी तरफ से फायरिंग शुरू हो गई। बदमाश पुलिस टीम पर फायर झोंकने के साथ ही भागने लगे। पुलिस ने भी जबावी फायरिंग की और चार सदस्यों को पैर में गोली मारकर उन्हें पकड़ लिया। पकड़े गए बदमाश बाबू सिंह, बिजेंद्र, महेंद्र और लालू थाना मिलकिया जिला शहाबगंज के निवासी बताए जा रहे हैं। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

 

वहीं अलीनगर पुलिस को भी सूचना मिली कि कैली में बदमाशों का गिरोह घूम रहा है और किसी घटना को अंजाम देने की फिराक में है। इंस्पेक्टर ने कंट्रोल रूम को सूचना देने के बाद बदमाशों की घेराबंदी शुरू कर दी। सीओ अनिरुद्ध सिंह पुलिस टीम की खुद मानीटरिंग कर रहे थे। पुलिस ब्रिज के पास पहुंची तो बदमाशों ने दीवार की आड़ लेकर पुलिस पर फायर झोंक दिया। पुलिस ने भी गोली का जवाब गोली से दिया और चार बदमाशों को हाफ एनकाउंटर के बाद पकड़ लिया। बदमाशों के पास से असलहे भी बरामद हुए। सभी को भोगवारा स्थित सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सीओ अनिरुद्ध सिंह ने घटनास्थल का जायजा लेने के साथ ही बदमाशों से पूछताछ भी की। बताया कि पकड़े गए बदमाश पर्वत गोसाईं, मोहनपाल, महिपाल और बाबू गोसाईं शाहजहांपुर के रहने वाले हैं। गिरोह जनपद में सक्रिय था। दिन में रेकी करते थे और रात में चोरी और लूट की घटनाओं को अंजाम देते थे। पुलिस गिरोह के अन्य सदस्यों को पकड़ने में जुटी है।

Back to top button
error: Content is protected !!