fbpx
क्राइमचंदौली

Chandauli News : नवागत SP ने क्राइम मीटिंग में थानेदारों की कसी नकेल, जमानत निरस्त कर पेशेवर अपराधी फिर जाएंगे जेल, जानिये क्या है पुलिस का एक अपराधी, एक आरक्षी प्लान

चंदौली। नवागत पुलिस अधीक्षक डा. अनिल कुमार ने गुरुवार को पुलिस लाइन में क्राइम मीटिंग की। इस दौरान पुलिस अधिकारियों व थाना प्रभारियों संग क्राइम कंट्रोल, शिकायतों के निस्ताऱण के बाबत चर्चा की। उन्होंने क्राइम कंट्रोल के लिए बाहर घूम रहे पेशेवर अपराधियों की जमानत निरस्त कर दोबारा जेल भेजने और शिकायतों के त्वरित व पारदर्शीपूर्ण तरीके से निस्तारण के निर्देश दिए। क्राइम कंट्रोल के लिए एक अपराधी एक आरक्षी प्लान भी लागू किया जाएगा।

 

एसपी ने जनसुनवाई को और अधिक प्रभावी बनाने तथा सभी अधिकारी एवं थाना प्रभारी को समय से कार्यालय में उपस्थित रहने के लिए निर्देशित किया गया। कहा कि थानों में आने वाले अपराधी बगैर सुनवाई वापस न जाएं। आगन्तुक रजिस्टर में सभी का विवरण अपडेट रखें। शिकायतकर्ताओं को उसके शिकायत से सम्बन्धित रसीद प्रदान की जाए। हेल्प डेस्क पर कार्यरत कर्मी शिकायतकर्ता से उसकी समस्या/शिकायत निस्तारण के विषय में फीडबैक लें। यदि शिकायतकर्ता कार्रवाई से संतुष्ट नहीं है तो उसकी शिकायत को पुनर्जीवित कर पुनः जांच और आवश्यक कार्रवाई की जाए। आइजीआरएस व जनसुनवाई के माध्यम से प्राप्त प्रार्थना पत्रों के डिफाल्टर से पूर्व की स्थिति में समयबद्ध व गुणवत्तापूर्ण निस्तारण हेतु सभी संबंधित को सख्त निर्देश दिए गए। लापरवाही बरतने वाले थाना प्रभारी व पुलिस कर्मियों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी।

 

एक अपराधी एक आरक्षी प्लान
एसपी ने टॉप टेन सूची में शामिल अभियुक्तों की सतत निगरानी व उनके विरुद्ध प्रभावी कार्रवाई पर जोर दिया। इसके लिए ‘एक अपराधी एक आरक्षी’ की नियुक्ति की जाएगी। लुटेरे व पेशेवर अपराधियों का जमानत निरस्त्रीकरण करा गुंडा/गैंगस्टर एक्ट में कार्रवाई करते हुए उन्हें दोबारा जेल भेजा जाएगा। उन्होंने सभी थाना प्रभारियों को इसको लेकर कार्रवाई शुरू करने के निर्देश दिए।

 

दस दिन लगातार काम करने वाले पुलिसकर्मियों को 24 घंटे रेस्ट
एसपी ने सभी थाना प्रभारियों को निर्देशित किया कि क्षेत्र में कार्यरत पुलिसकर्मियों को 10 दिवस कर्तव्य निर्वहन के उपरांत एक दिवस अर्थात 24 घंटे का रेस्ट प्रदान किया जाए। इस अवधि में उक्त कर्मी अपने नियुक्ति स्थल पर ही उपस्थित रहेगा।

 

समय पर पहुंचे पीआरवी

एसपी ने कहा कि सूचना मिलने के बाद समय से पीआरवी मौके पर पहुंचे, ताकि पीड़ितों को इसका लाभ मिल सके। पर्वों के दौरान संवेदनशीलता के दृष्टिगत छोटी सी छोटी घटनाओं पर गम्भीरता पूर्वक कार्रवाई की जाए। किसी भी परिस्थिति में सार्वजनिक मार्गों पर अवरोध अथवा बाधित कर विरोध प्रदर्शन न होने दिया जाए। लम्बित विवेचनाओं व प्राप्त प्रार्थना पत्रों की जांच व गुणवत्तापूर्ण निस्तारण समयबद्ध कराया जाए। महिला अपराधों में संवेदनशील होकर गम्भीरता से त्वरित व प्रभावशाली कार्रवाई के लिए कड़े निर्देश दिए।

Back to top button
error: Content is protected !!