fbpx
क्राइमचंदौली

Chandauli News : उपभोक्ताओं का डेटा चोरी कर लोन के माध्यम से करते थे ठगी, चार शातिर अंतरजनपदीय साइबर अपराधी गिऱफ्तार, एसपी पुलिस टीम को देंगे ईनाम

चंदौली। मुगलसराय कोतवाली पुलिस व साइबर सेल ने होम क्रेडिट कार्ड फाइनेंस कंपनी से उपभोक्ताओं का डेटा चोरी कर ठगी करने वाले चार शातिर अंतरजनपदीय अपराधियों को नगर के वीआईपी गेट के पास से गिरफ्तार कर लिया। उनके पास से सवा लाख रुपये बरामद किए गए। एसपी डा. अनिल कुमार ने गुरुवार को पुलिस लाइन सभागार में गिरफ्तारी व बरामदगी के बारे में जानकारी दी। पुलिस टीम को 25 हजार रुपये ईनाम देने की घोषणा की।

 

एसपी ने बताया कि गिरफ्तार अपराधियों में मलोखर गांव निवासी जितेंद्र चौहान पहले होम क्रेडिट कार्ड फाइनेन्स कम्पनी में काम करता था। उसकी मुगलसराय में किरन मोबाइल नाम से मोबाइल की दुकान है, जहां से लोगों को मोबाइल फाइनेन्स करता था। उसकी मुलाकात सेमरा कटेसर निवासी आकाश पांडेय से हुई। आकाश होम क्रेडिट फाइनेंस कम्पनी में एरिया मैनेजर के पद पर कार्यरत है। उसने जितेंद्र को शनि मोबाइल सेंटर चकिया से पूर्व उपभोक्ता, जिन्होंने लोन लेकर धनराशि जमा कर दिया था, उनका होम क्रेडिट फाइनेन्स का आईडी पासवर्ड चोरी से दिया था। इसके आधार पर मंजीत कुमार गौड़ के पूर्व उज्जवल कार्ड का डाटा निकालकर अपने मित्र मोहम्मद शाहिद से फर्जी सिम कार्ड प्राप्त कर, मंजीत कुमार गौड़ के उज्जवल कार्ड डाटा में मोबाईल नम्बर एडिटिंग कर तथा मंजीत कुमार गौड़ के फोटो को मो. रईस के माध्यम से बदलवा दिया। इसके बाद मंदीप कुमार गौड़ के नाम से नया लोन स्वीकृत कराकर दो एन्ड्रायड मोबाईल ( I PHONE 13  व INFINIX)  सैमसंग द फिलिंग मोबाईल मुगलसराय की दुकान से क्रय क्रिया। बाद में उन दोनो मोबाइलों को आर्थिक लाभ हेतु अन्य लोगों को बेच दिया। इसी प्रकार नौगढ़ के मझगाईं गांव निवासी लक्ष्मीकान्त विश्वकर्मा चन्दौली के भी आईडी पासवर्ड के माध्यम से एक एन्ड्रायड मोबाईल (REAL ME) सैमसंग द फिलिंग मोबाईल मुगलसराय से क्रय किया। उसको भी आर्थिक लाभ के लिए बेच दिए, उससे प्राप्त धनराशि का बटवारा आपस में कर लिया। इसके अलावा चंधासी निवासी गुलशन पटेल, जिसकी पड़ाव में द मोबाइल ट्रेड की दुकान है। वह भी होम क्रेडिट फाइनेन्स कम्पनी का काम करता है। उसके साथ मिलकर भी होम क्रेडिट फाइनेन्स कम्पनी से अन्य मोबाइल की फर्जी/गलत IMEI NO. अंकित करके भी अन्य लोगों का लोन पास करा लिए थे। इसका पैसा गुलशन पटेल के खाते में आता था। वह अपना हिस्सा लेकर बाकी साथियों को हिस्सा वापस कर देता था। पुलिस ने जितेंद्र चौहान, आकाश पांडेय, दुलहीपुर के शाहिद और चंधासी निवासी गुलशन पटेल को गिऱफ्तार किया है।

Back to top button
error: Content is protected !!