fbpx
ख़बरेंचंदौली

Chandauli News : अब एक मिनट भी देर से स्कूल पहुंचे तो मान लिए जाएंगे गैरहाजिर, बेसिक शिक्षा निदेशक के नए फरमान से शिक्षकों में आक्रोश

चंदौली। पीडीडीयू नगर के कन्या पूर्व माध्यमिक विद्यालय में संयुक्त शिक्षक मोर्चा की बैठक हुई। इसमें बेसिक शिक्षा नियमावली के विरुद्ध शिक्षकों पर थोपे जा रहे डिजिटाइजेशन के आदेश पर आक्रोश व्यक्त किया गया।

 

संयुक्त शिक्षक मोर्चा की संरक्षिका डॉक्टर सुनीता तिवारी ने कहा कि सरकार शिक्षकों शिक्षा मित्रों,अनुदेशकों के हित को ध्यान न देते हुए बेसिक शिक्षक नियमावली के विरुद्ध डिजिटाइजेशन का आदेश थोप रही है। पहले भी ज्ञापन के माध्यम से शासन से मांग किया था कि शिक्षकों को पूरे वर्ष में 30  ईएल दिया जाए, लेकिन इस दिशा में ऐसी कोई मांग पूरी नहीं की गई। उन्होंने बताया कि हमने हॉफ सीएल की मांग सरकार से करते आ रहे हैं, लेकिन आज तक इन मांगों को नहीं पूरा गया है। उन्होंने बताया कि पूरे वर्ष में केवल 14 आकस्मिक अवकाश शिक्षकों को मिलते हैं। इससे अध्यापक अपने आवश्यक कार्यों के लिए भी मेडिकल का सहारा लेता है। उन्होंने बताया कि महानिदेशक के नए आदेश के अनुसार यदि अध्यापक एक  मिनट भी किसी भी कारणवश चाहे दुर्घटना हो जाए,अचानक बीमार हो जाए,रास्ते मे गाड़ी खराब हो जाए या जिस वजह से भी एक मिनट भी देर हो जाए तो अनुपस्थित मान लिया जाएगा, जबकि हम पूर्व में यह मांग कर चुके हैं कि पूरे एक माह में अध्यापक यदि तीन दिन लेट हो जाए तो उसका एक आकस्मिक अवकाश स्वीकृत कर कम कर दिया जाए। उन्होंने कहा कि यह सभी आदेश कर्मचारी सेवा नियमावली 1956 तथा बेसिक शिक्षा नियमावली 1972 अद्यतन संशोधन 1982 के विरुद्ध किया गया है। कहा किसी शिक्षक शिक्षिकाएं अनुदेशक शिक्षामित्र अपना फोटो खंड शिक्षा अधिकारी को प्रार्थना के समय भेजेंगे, जिससे उनकी निजता के हनन की प्रबल संभावना है। इससे उनके सामाजिक और व्यक्तिगत जीवन पर प्रभाव पड़ सकता है।

 

वक्ताओं ने कहा कि जनपद के परिषदीय विद्यालय ग्रामीण एवं पर्वतीय दुर्गम क्षेत्रों में व्यवस्थित हैं, जहां विपरीत मौसम में आवागमन एवं नेटवर्क अवरुद्ध हो जाता है। इसके कारण अध्यापक विद्यालय में उपस्थित होकर भी तकनीकी समस्याओं की वजह से अनुपस्थित मान लिया जाएगा जो कि कहीं से भी व्यावहारिक नहीं है। उन्होंने कहा कि जब तक हमारे समस्याओं को गंभीरता से लेते हुए शासन स्तर पर इसका हल नहीं निकल जाएगा। इसमें संशोधन नहीं किया जाएगा तब तक हम सभी संगठन के साथी इसका पुरजोर विरोध करते रहेंगे। इस अवसर पर जूनियर हाईस्कूल शिक्षक संघ के अध्यक्ष आनंद पांडेय, पूर्व माध्यमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष संतोष सिंह, महामंत्री संजय सिंह प्राथमिक शिक्षक संघ के आनंद, उपेंद्र, हरेंद्र सिंह, राशैम के इम्तियाज, शिक्षामित्र संघ के भूपेंद्र कुमार सिंह, ओपी सिंह, अनुदेशक संघ के विकास यादव, एससी एसटी संघ के रामविलास, ज्ञानचंद, हिमांशु तिवारी, राजकुमार जायसवाल, धीरेंद्र सिंह, ज्ञान, चंद्रकांत, कमर जहां, अनामिका गुप्ता, अलका सिंह आदि उपस्थित रहीं।

Back to top button
error: Content is protected !!