fbpx
ख़बरेंराज्य/जिलावाराणसी

108 वर्ष बाद काशी विश्वनाथ धाम पहुंची माता अन्नपूर्णा की दुर्लभ प्रतिमा, सीएम योगी आदित्यनाथ ने की प्राण-प्रतिष्ठा

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रयास से कनाडा की रेजिना यूनिवर्सिटी से 108 साल बाद भारत वापस लाई गई माता अन्नपूर्णा की प्रतिमा का काशीवासियों ने बेमिसाल अंदाज में स्वागत किया। सोमवार सुबह दुर्लभ प्रतिमा श्री काशी विश्वनाथ धाम पहुंची। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वैदिक मंत्रोच्चार के बीच प्रतिमा यात्रा की अगवानी की। पूरा मंदिर परिसर मां के जयकारे और हर-हर महादेव के उद्घोष से गुंजायमान रहा। सीएम की मौजूदगी में मूर्ति की प्राण-प्रतिष्ठा की गई।

बाबा विश्वनाथ के विशेष रजत सिंहासन पर किया प्रवेश
विधान श्रीकाशी विद्वत परिषद के निर्देशन में काशी विश्वनाथ मंदिर का 11 सदस्यीय अर्चक दल ने सुबह छह बजे शुरू कर दिया था। मुख्य अनुष्ठान में सुबह खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ यजमान बने। कनाडा से काशी पहुंची माता अन्नपूर्णा की प्राचीन मूर्ति को बाबा विश्वनाथ के विशेष रजत सिंहासन पर विश्वनाथ धाम में प्रवेश कराया गया। मां अन्नपूर्णा की रजत पालकी को योगी आदित्यनाथ ने कंधा देकर मंदिर परिसर में प्रवेश कराया। प्राण-प्रतिष्ठा के बाद महाभोग अर्पित कर महाआरती की गई। मूर्ति स्थापना के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बाबा दरबार में हाजिरी लगाई।

सीएम ने किया संबोधित
सिगरा स्थित अंतर्राष्ट्रीय सहयोग एवं सम्मेलन केंद्र रुद्राक्ष सभागार में सोमवार को आयोजित कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 108 वर्ष बाद अन्नपूर्णा की मूर्ति पुनः अपने काशी धाम में आकर विराजमान हो गई है। पूरे काशी में उत्सव सा माहौल है। माता अन्नपूर्णा की दुर्लभ प्रतिमा का काशी में अपने धाम वापस आने पूरा श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जाता है। इसके लिए उन्होंने काशीवासियों सहित प्रदेशवासियों की ओर से प्रधानमंत्री का अभिनंदन किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत की विरासत का संरक्षण कैसे हो प्रधानमंत्री ने करके दिखाया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रयास से विश्वनाथ धाम दिव्य धाम बन रहा है। इतना ही नहीं गंगा की भी किसी ने कोई चिंता नहीं की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अविरल गंगा निर्मल गंगा की भी चिंता की और आज गंगा नदी अविरल गंगा और निर्मल गंगा के रूप में प्रवाहित हो रही है। उन्होंने बताया कि अभी गत दिनों विदेश यात्रा मे गये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत से विदेश ले जाए गए 156 मूर्तियां को वापस लेकर आए हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि पहले भारत की मूर्ति तस्करी से विदेश चली जाती थी और भारत की आस्था आहत होती थी। आज वह समय है कि भारत के आस्था की प्रतीक मूर्तियां भारत वापस आ रही है। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए उत्तर प्रदेश के धर्मार्थ कार्य मंत्री डॉ नीलकंठ तिवारी ने कहां कि 108 वर्ष पूर्व काशी से चोरी गई मां अन्नपूर्णा की दुर्लभ मूर्ति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रेरणा एवं प्रयास से काशी आकर पुनः काशी विश्वनाथ धाम में विराजमान हुई है। उन्होंने बताया कि माता अन्नपूर्णा की मूर्ति के शोभायात्रा के दौरान सड़कों पर श्रद्धा का जनसैलाब उमड़ आया था। इस अवसर पर स्वामी जितेंद्रानंद महाराज, सतुआ बाबा संतोष दास महाराज, अन्नपूर्णा मंदिर के महंत शंकरपुरी के अलावा उत्तर प्रदेश के नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन, पिछड़ा वर्ग कल्याण एवं दिव्यांगजन सशक्तिकरण मंत्री अनिल राजभर, स्टांप एवं पंजीयन शुल्क राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रविंद्र जायसवाल, जिला पंचायत अध्यक्ष पूनम मौर्या, महापौर मृदुला जायसवाल, विधायक सौरभ श्रीवास्तव, विधायक डॉ अवधेश सिंह, विधायक सुरेंद्र नारायण सिंह, विधायक सुशील सिंह आदि उपस्थित रहे।

Back to top button
error: Content is protected !!