fbpx
Uncategorizedसंस्कृति एवं ज्योतिष

परेशानियों को दूर करने के लिए किए जाते हैं 7 स्तोत्र का पाठ, आप भी जानिए

हर व्यक्ति किसी न किसी समस्या से परेशान रहता है तो इन सभी परेशानियों को दूर करने के लिए ज्योतिष शास्त्र में उपाय बताए गए हैं। मान्यता है कि इन उपायों को करने से व्यक्ति के जीवन की सारी समस्याएं दूर हो जाती हैं। साथ ही उन्हें किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं होती है। अगर आप भी आर्थिक तंगी, मानसिक अशांति, कलह-क्लेश जैसी समस्याओं से परेशान रहते हैं तो नीचे दिए गए स्तोत्र का पाठ कर सकते हैं।

हनुमान चालीसा का पाठ
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, यदि कोई चाहता है कि उसका शरीर स्वस्थ रहे, शक्ति और बल प्राप्त हो तो ऐसे में उसे हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए।

शिवाष्टक स्त्रोत का पाठ
यदि किसी जातक का मन अशांत रहता है, तो उसे शिवाष्टक स्तोत्र का पाठ करना चाहिए। मान्यता है इस स्तोत्र का पाठ करने से जातक का मन शांत रहता है।

आदित्य हृदय स्त्रोत
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, यदि किसी जातक को समाज में मान-सम्मान और पद-प्रतिष्ठा का सम्मान नहीं मिलता है तो उसे आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ करना चाहिए।

गणेश अथर्वशीर्ष
माना जाता है कि जिस घर में हर समय पारिवारिक कलह-क्लेश होता है, तो उस स्थिति में जातक को गणेश अथर्वशीर्ष स्तोत्र का पाठ करना चाहिए।

गोपाल सहस्त्रनाम स्तोत्र
माना जाता है कि संतान की समस्या दूर करने के लिए गोपाल सहस्त्रनाम का पाठ करना चाहिए। इससे संतान संबंधित सभी समस्याएं दूर हो जाती हैं।

सुंदरकांड का पाठ
जो जातक किसी प्रकार के कानूनी विवादों से परेशान हैं, उन्हें सुंदरकांड का पाठ करना चाहिए। ऐसा करने से कानूनी मसले हल हो सकते हैं।

कनकधारा स्त्रोत
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, जिस जातक को धन की समस्या रहती हो, ऐसे जातक कनकधारा स्तोत्र का पाठ कर सकते हैं। कहा जाता है कि इस स्त्रोत का पाठ करने से आर्थिक तंगी से मुक्ति मिलती है।

Back to top button
error: Content is protected !!