क्राइमचंदौली

चंदौली एसपी के पेशकार पर वाराणसी में अवैध टैक्सी स्टैंड संचालित कराने का आरोप, पूर्व आईपीएस ने डीजीपी से की शिकायत, एएसपी करेंगे जांच

चंदौली। पुलिस अधीक्षक चंदौली के पेशकार में वाराणसी में अवैध टैक्सी स्टैंड संचालित करने का आरोप लगा है। आजाद अधिकार सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने इसकी शिकायत डीजीपी से करते हुए जांच कराकर कार्रवाई की मांग की है। चंदौली एसपी डॉक्टर अनिल कुमार ने पूरे प्रकरण की जांच एडिशनल एसपी को सौंप दी है।

 

पूर्व आईपीएस का आरोप है कि स्थानीय पुलिस की शह पर कैंट इलाके में अवैध स्टैंड संचालित होता है। टैक्सी स्टैंड से 20 से 25 हजार रुपए प्रतिदिन की अवैध आमदनी की बात भी सामने आ रही है। अमिताभ ठाकुर ने डीजीपी को दो ऑडियो रिकॉर्डिंग भी भेजी है। इसमें एसपी चंदौली के पेशकार धीरेंद्र प्रताप सिंह और एक अन्य टैक्सी मालिक के बीच बातचीत बताई जा रही है। धीरेंद्र प्रताप सिंह पुलिस लिखी सफेद रंग की गाड़ी नंबर यूपी 65 ईक्यू 7159 को इस अवैध टैक्सी स्टैंड से टैक्सी के रूप में चलाए जाने और टैक्सी के संचालन के क्रम में तमाम लोगों से बातचीत करने तथा धमकी देने के आरोप है। बातचीत में उनके द्वारा कथित रूप से यह स्वीकार किया जा रहा है कि उक्त अवैध टैक्सी स्टैंड उन्हीं के द्वारा स्थापित कराया गया और उन्होंने 15-20 वर्षों तक उस टैक्सी स्टैंड को चलवाया था। पूर्व आईपीएस ने कहा कि एक पुलिस इंस्पेक्टर पर खुलेआम पुलिस लिखी गाड़ी को टैक्सी के रूप में चलाने और उसके क्रम में लोगों को धमकी देने तथा इस प्रकार के दावे करने के आरोप अत्यंत आपत्तिजनक है। उन्होंने समस्त तथ्यों की उच्चस्तरीय जांच कराते हुए समुचित कार्रवाई कराए जाने की मांग की है। इस बाबा चंदौली एसपी डॉक्टर अनिल कुमार का कहना है कि प्रकरण चंदौली का नहीं है। मामला संज्ञान में आया है। एडिशनल एसपी को इसकी जांच सौंप दी गई है। तथ्यों के आधार पर कार्रवाई की जाएगी। शिकायतकर्ता से संपर्क का प्रयास किया जा रहा है।

 

Back to top button
error: Content is protected !!