fbpx
राजनीतिराज्य/जिलावाराणसी

संत रविदास जयंती समारोह में शामिल हुईं प्रियंका गांधी वाड्रा, कांग्रेसियों में गजब का उत्साह

वाराणसी। संत रविदास जयंती पर वाराणसी स्थित संत शिरोमणि दरबार में अति विशिष्ट जनों का तांता लगा रहा। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा भी शनिवार को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच दरबार में पहुंचीं। संत की प्रतिमा पर माल्यार्पण के बाद महाराज निरंजनदास से मुलाकात की और सत्संग व लंगर में शामिल हुईं। कहा कि रैदासियों ने इस देश में सच्चा धर्म कायम कर रखा है। इसके पीछे न तो कोई राजनीति है ना ही कोई मकसद।


कहा संत रविदास महाराज ने सिखाया है कि सबकी सेवा होनी चाहिए और सबको अन्न और छत मिलनी चाहिए। आपका समाज इस धर्म को निभा रहा है। कहा संत निरंजनदास जी महाराज से मेरा दिल से लगाव है। आज यहां आप के सामने खड़े होकर मैं सिर्फ दो बातें कहना चाहती हूं कि संत रविदास जी ने जो धर्म सिखाया वह सच्चा धर्म था। जो सच्चा धर्म है वह कभी बैर नहीं रख सकता। कभी लोगों को अलग नहीं कर सकता। उसका स्वभाव यही होता है कि आपके मन को शीतल बनाता है। प्रियंका गांधी ने कहा कि पिछले साल जब कोरोना शुरू हुआ तब मेरी कोशिश थी कि यूपी के कांग्रेस कार्यकर्ता भी लोगों की सेवा करें। हमारे लोगों ने भी रसोइयां खोलीं और शहरों से पैदल ही गांवों को जाने वाले लोगों की सेवा की। अंत में प्रियंका गांधी ने पंगत में लंगर छका और रैदासियों के साथ फोटो खिंचवाई।

कांग्रेसियों में दिखा गजब का उत्साह

प्रियंका गांधी के वाराणसी आगमन पर कांग्रेसियों में गजब का उत्साह देखने को मिला। एयरपोर्ट से लेकर सीर गोवर्धनपुर तक कार्यकर्ताओं की जुटान रही। सुबह तकरीबन साढ़े दस बजे प्रियंका गांधी के आगमन के बाद से उनके पीछे सैकड़ों वाहनों का काफिला नजर आया। चंदौली से भी बड़ी संख्या में कांग्रेसी अपने नेता का स्वागत करने पहुंचे। जिला कांग्रेस कमेटी जिलाध्यक्ष धर्मेंंद्र तिवारी के नेतृत्व में सैकड़ों कार्यकर्ता मौजूद रहे।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button