ख़बरेंचंदौली

Chandauli News : सहायक लेखाकार पर शिक्षा विभाग मेहरबान, घर बैठे उठाती रहीं मानदेय, भ्रष्टाचार पर पर्दा डालने में जुटे अधिकारी

चंदौली। बेसिक शिक्षा विभाग ने कर्मी को बिना ड्यूटी किए ही मानदेय जारी कर दिया। मामला शहाबगंज बीआरसी का है। यहां सहायक लेखाकार के पद पर नियुक्त उषा यादव एक भी दिन दफ्तर नहीं आईं, लेकिन उपस्थिति पंजिका में उनकी उपस्थिति रोज भरी जा रही थी। वहीं हर माह मानदेय भी उनके खाते में पहुंचता रहा। मामला जिलाधिकारी के संज्ञान में आने के बाद उन्होंने जिला विद्यालय निरीक्षक को जांच का आदेश दिया है। इसके बाद बेसिक शिक्षा विभाग में खलबली मची है।

 

 

बीआरसी पर तैनात कंप्यूटर आपरेटर शमशेर बहादुर ने बताया कि सहायक लेखाकार उषा यादव की शहाबगंज बीआरसी पर एक जुलाई 2022 को नियुक्ति हुई थी। तब से एक दिन भी बीआरसी कार्यालय नहीं आयी हैं। कार्यालय सहायक अवधेश कुमार ने भी यही बात दोहराई। उन्होंने बताया कि जब से उनकी नियुक्ति हुई है, तब से एक दिन भी दफ्तर नहीं आई। इनको मानदेय दिया जा रहा है या नहीं, उपस्थिति रजिस्टर पर इनके साइन हो रहे हैं कि नहीं, इसके बारे में जानकारी नहीं है। मामला अब डीएम के संज्ञान में भी आ चुका है। जिलाधिकारी ने जिला विद्यालय निरीक्षक को मामले की जांच कर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। डीएम के आदेश करने के 17 दिन बीत जाने के बाद भी अभी तक कुछ नहीं हुआ। जिला विद्यालय निरीक्षक जेपी मौर्या ने बताया कि जल्द ही बीआरसी पहुंचकर प्रकरण की जांच की जाएगी। इसकी रिपोर्ट जिलाधिकारी को सौंपेंगे। वहीं बीएसए सत्येंद्र कुमार सिंह ने कहा कि सहायक लेखाकार का मानदेय रोक दिया गया है। प्रकऱण की जांच कराई जाएगी।

Back to top button
error: Content is protected !!