fbpx
वाराणसी

30 मिनट में मिल जाएगी कोविड रिपोर्ट, BHU-NEST इंक्यूबेशन में होगी इस खास मशीन की लॉन्चिंग, जानिये क्या है खासियत

वाराणसी। कोरोना का नया वैरिएंट ओमीक्रोन XBB.1.16 तेजी से देश में अपने पांव पसार रहा है। ऐसे में एक बार फिर से लैब्स पर कोरोना टेस्टिंग का दबाव बढ़ने लगा है। कोविड के बढ़ते मामलों को देखते हुए BHU की साइंस फैकल्टी द्वारा संचालित BHU-NEST इंक्यूबेशन में मोबाइल के आधी साइज की एक डिवाइस लॉन्च होने वाली है। जो सिर्फ 30 मिनट में कोविड टेस्ट कर (RT-PCR) रिपोर्ट दे देगी।

मशीन से रैंडम टेस्टिंग
इस मशीन को आसानी से एक जगह से दूसरी जगह ले जाया जा सकता है। बल्क में एक साथ कई लोगों की रैंडम टेस्टिंग भी की जा सकती है। अस्पताल ही नहीं बल्कि, रेलवे स्टेशन और हवाई अड्डों पर भी कम समय में स्क्रीनिंग कर रिपोर्ट दी जा सकती है।

पर पर्सन लगेगा इतना चार्ज
इस डिवाइस की कीमत 20 से 25 हजार रुपए होगी। वहीं, प्रति व्यक्ति जांच का खर्चा महज 100 रुपए आएगा। आगे चलकर यह 70-80 रुपए भी हो सकता है। इस डिवाइस की ऊंचाई 5 सेंटीमीटर, चौड़ाई 4 सेंटीमीटर और वजन 100 ग्राम से भी कम है।

दक्षिण कोरिया की मदद से भारत की पहली मशीन बनाई है
अब किसी BSL मानक के लैब्स की जरूरत नहीं होगी, क्योंकि यह छोटी सी डिवाइस ही अपने आप में 10-15 मशीनों को समेटे एक पूरा लैब है। BHU-NEST में रजिस्टर्ड स्टार्टअप टॉरमेट टेक्नोलॉजीज ने दक्षिण कोरिया की मदद से भारत की यह पहली मशीन बनाई है, जो कि इतने कम समय में कोविड रिपोर्ट देने में सक्षम है।

स्वदेशी तकनीक से बनी यह मशीन मॉलिक्यूलर डायग्नोस्टिक पर आधारित है। यह पॉलिमर चेन रिएक्शन यानी PCR और लूप मेडिएटेड आइसोथर्मल एंप्लीफिकेशन यानी LAMP मेथड के बीच की तकनीक है। हालांकि, इस तकनीक को पेटेंट कराया गया है, जिस पर ज्यादा बात नहीं की जा सकती।

Back to top button
error: Content is protected !!