fbpx
ख़बरेंचंदौली

Chandauli News : डीडीयू जंक्शन से दो किलो सोना के साथ पकड़ा गया तस्कर, कमर में टेप से चिपकाकर ले जा रहा था सोना

डीआरआई वाराणसी की टीम ने छापेमारी में पकड़ा पश्चिम बंगाल से सोना लेकर तस्कर जा रहा था वाराणसी 1.47 करोड़ रुपये है बरामद सोने की कीमत, रैकेट का पता लगा रही डीआरआई

चंदौली, डीडीयू जंक्शन, डीआरआई, सोना बरामद, तस्कर पकड़ाया
  • डीआरआई वाराणसी की टीम ने छापेमारी में पकड़ा पश्चिम बंगाल से सोना लेकर तस्कर जा रहा था वाराणसी 1.47 करोड़ रुपये है बरामद सोने की कीमत, रैकेट का पता लगा रही डीआरआई
  • डीआरआई वाराणसी की टीम ने छापेमारी में पकड़ा
  • पश्चिम बंगाल से सोना लेकर तस्कर जा रहा था वाराणसी
  • 1.47 करोड़ रुपये है बरामद सोने की कीमत, रैकेट का पता लगा रही डीआरआई

चंदौली। डीआरआई की टीम ने डीडीयू जंक्शन से दो किलो सोना के साथ तस्कर को गिरफ्तार किया। तस्कर सेलो टेप से सोना कमर में चिपकाकर ले जा रहा था। इसी दौरान सटीक सूचना के आधार पर डीआरआई ने गिरफ्तार कर लिया। उसे कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया। बरामद सोने की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में 1.47 करोड़ रुपये है।

डीआरआई को सूचना मिली थी कि तस्कर सोना की खेप लेकर डीडीयू के रास्ते ट्रेन से वाराणसी आने की फिराक में है। इस पर टीम एक्टिव हो गई और डीडीयू जंक्शन पहुंच गई। टीम ने प्लेटफार्म नंबर चार से एक व्यक्ति को पकड़ा। उसकी तलाशी ली गई तो सेलो टेप के जरिये कमर में चिपकाकर ले जाया जा रहा दो किलो से अधिक सोना मिला। तस्कर की पहचान प्रमोद महादेव मिसाल, निवासी पानवेगांव, सोलापुर, महाराष्ट्र के रूप में हुई। उसने बताया कि महाराष्ट्र के सोलापुर जिले के चोपड़ी सगोला निवासी सोमनाथ बाबर के कहने पर वह सोना लेकर वाराणसी जा रहा था। बताया कि पश्चिम बंगाल के करीमपुर, जिला नदिया में सोमनाथ की सोना गलाने की दुकान है। सोमनाथ ने पश्चिम बंगाल के वर्धमान में एक कमरा किराये पर लेकर मुझको दिया है। बताया कि मैं पिछले चार महीने में आठ बार सोने की डिलिवरी वाराणसी में कर चुका हूं। हर बार सोमनाथ करीमनगर से आकर वर्धमान में मुझे सोना देता है और मैं वहां से ट्रेन के जरिये वाराणसी आता हूं। इस काम के लिए मुझे हर महीने 10 हजार रुपये मिलते हैं। साथ ही सोमनाथ प्रत्येक डिलिवरी पर एक हजार रुपये अलग से देता है। प्रमोद ने बताया कि सोमनाथ बांग्लादेश से सोना मंगाता है। सोने के ऊपर की मार्किंग गलाकर मिटा दी जाती है। इसके बाद सोने के ऊपर सिलवर कोटिंग कर दी जाती है।

Back to top button
error: Content is protected !!