चंदौलीराजनीति

Chandauli News : भारतमाला रोड के दायरे में आ रहे पूंजीपति के स्कूल को बचाने के चक्कर में 250 गरीब हो रहे बेघर, पदयात्रा निकालकर जताया विरोध

चंदौली। क्षेत्र के रेवसा गांव से होकर भारतमाला रोड का निर्माण कराया जाना प्रस्तावित है। इसके लिए जमीन अधिग्रहण की वजह से तीन दलित बस्तियों के लगभग ढाई सौ लोग बेघर हो रहे हैं। इसके विरोध में पूर्व सांसद रामकिशुन यादव के नेतृत्व में बुधवार को ग्रामीण व किसानों ने पदयात्रा निकाली। इस दौरान शासन-प्रशासन के खिलाफ नाराजगी जताई। चेताया कि जान दे देंगे पर जमीन नहीं देंगे। सरकार चाहे जितना भी जुल्म, ज्यादती कर ले।

 

क्षेत्र के रेवसा गांव से होकर भारतमाला रिंग रोड निर्माण कराया जाना है। इसमें एक पूंजीपति के विद्यालय को बचाने के चक्कर में सत्ता पक्ष के दबाव में अधिकारियों की ओर से तीन दलित बस्तियों को उजाड़ कर लगभग ढाई सौ परिवारों को बेघर किया जा रहा है। इसके अलावा लगभग 100 एकड़ किसानों की जमीन अधिग्रहित की जा रही है। इससे बहुत से लोग बेघर तो बहुत से लोग भूमिहीन हो जाएंगे। ग्रामीण कई बार धरना प्रदर्शन से लेकर जिलाधिकारी को पत्रक सौंपकर इसका विरोध कर चुके हैं। एक बार फिर बुधवार को पूर्व सांसद रामकिशुन यादव के नेतृत्व में सैकड़ो की संख्या में ग्रामीण व किसानों ने पैदल पदयात्रा निकालकर तीनों बस्तियां का भ्रमण कर सरकार विरोधी नीतियों के खिलाफ हुंकार भरने का काम किया। इस दौरान ग्रामीण व किसानों को संबोधित करते हुए पूर्व सांसद रामकिशुन यादव ने कहा कि भारतमाला हो या रिंग रोड यह सिर्फ पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाने के लिए बनाई जा रही है। इसमें गरीब परिवारों की बलि दी जा रही है। इससे किसी को डरने की जरूरत नहीं है। इसके खिलाफ आवाज उठाने की जरूरत है। यही नहीं शासन की ओर से लोहिया आवास भी इन्हीं बस्तियों में बनाए गए हैं। निजी आवास के साथ सरकारी आवास भी ढहाने का काम सरकार करने जा रही है। सिर्फ एक व्यक्ति को लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से गरीबों के आशियाना छीनने का काम किया जा रहा है। कहाकि जुल्म, ज्यादती के खिलाफ हम लोग अंत तक लड़ेंगे। इस मौके पर पूर्व प्रधान विक्की यादव, निरंजन यादव, विजय गोंड बॉर्डर, संतोष यादव, पंकज कुमार, इंदा देवी, शैलेंद्र, गिरजा राम, सुरेंद्र प्रसाद,धनेश, मनोज कुमार,हीरालाल सहित सैकड़ो ग्रामीण व किसान मौजूद रहे।

Back to top button
error: Content is protected !!