fbpx
चंदौलीराज्य/जिला

सावाधान! मौसम का मिजाज बिगाड़ ने दे आपके बच्चे का स्वास्थ्य, डाक्टर की सुनिए

चंदौली। मौसम का मिजाज बिगड़ रहा है। कड़ाके की ठंड अब धीरे-धीरे गुलाबी ठंड में बदल रही है। यह मौसम नवजात और बच्चों के लिए कत्तई ठीक नहीं माना जाता है। निमोनिया, खांसी, टांसीलाइटिस, फैंटिजाइटिस जैसी बीमारियां ऐसे ही मौसम की तलाश में रहती हैं। आप जरा सा चूके नहीं कि बच्चे की सेहत बिगड़ सकती है। वरिष्ठ बाल रोग विशेषज्ञ डा. उमाशरण पांडेय कहते हैं कि मौसम परिवर्तन के समय बच्चों के सेहत पर ध्यान देना आवश्यक है।
डा. उमाशरण पांडेय बताते हैं कि अब तो स्कूल भी खुल चुके हैं। कोरोना का खतरा एकदम से टला नहीं है। इसलिए बच्चों को लेकर खास सवधानी बरतने की आवश्यकता है। नवजात शिशुओं में कोरोना का खतरा अपेक्षाकृत कम रहता है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि उनके स्वास्थ्य को लेकर बेफिक्र हो जाएंगे। इसके अतिरिक्त अन्य मौसम जनित बीमारियों को लेकर भी सावधान रहें। निमोनिया, खांसी, अस्थमा, टांसीलाइटिस, फैंटिजाइटिस जैसी बीमारियों के लिए यह मौसम अनुकूल है। बच्चों को बगैर मास्क और स्कार्प के स्कूल न भेजें। बच्च खुद नहीं खा पा रहा तो अपना हाथ साबुन से धोकर ही बच्चे को खाना लिखाएं। बच्चे को गुनगुना पानी पिलाएं तो काफी बेहतर है। गर्म भोजन कराने का प्रयास करें और किसी तरह की दिक्कत या बीमारी का लक्षण नजर आने पर बगैर देर किए चिकित्सक से परामर्श अवश्य लें।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!