fbpx
चंदौलीराजनीतिराज्य/जिला

चंदौली पुलिस के एक्शन से भाजपाइयों में आक्रोश, प्रदेश नेतृत्व तक पहुंची कप्तान की शिकायत

चंदौली। पुलिस और बीजेपी नेताओं के बीच जारी तनातनी कम होने का नाम नहीं ले रही। एक ही दिन में बीजेपी के दो कार्यकर्ताओं पर आधा दर्जन संगीन धाराओं में मुकदमा और एक को जेल भेजे जाने के मामले ने कार्यकर्ताओं को उद्वेलित कर दिया है। चुनाव नजदीक आ रहे हैं ऐसे में संगठन कार्यकर्ताओं की नाराजगी झेलने के मूड में नहीं है। बहरहाल जिला संगठन ने प्रदेश के शीर्ष नेतृत्व तक मामले को पहुंचा दिया है। पूरे घटनाक्रम में एसपी सहित कुछ पुलिसकर्मियों की भूमिका की जानकारी प्रदेश अध्यक्ष, जिले के सांसद व केंद्रीय मंत्री, प्रभारी मंत्री और जिले के प्रभारी दे दी गई है। अब सरकार के अगले कदम का इंतजार है।

पहले पिटाई फिर संगीन धाराओं में मुकदमा
पुलिस और बीजेपी के स्थानीय नेताओं के बीच तनातनी की शुरुआत बीते मंगलवार की रात से हुई। आरोप है कि सैयदराजा थाने के दारोगा ने एक मामले की पैरवी करने गए मंडल उपाध्यक्ष विशाल मद्धेशिया की पिटाई कर दी। घटना से नाराज बीजेपी के वरिष्ठ नेता थाने में ही धरने पर बैठ गए। क्षेत्रीय विधायक सुशील सिंह के आने के बाद दबाव बढ़ा तो आरोपित दारोगा जयप्रकाश यादव और चार आरक्षियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया। जांच प्रक्रिया पूरी होने तक दारोगा लाइन हाजिर कर दिए गए हैं। पुलिस ने अपने ही चार मातहतों के खिलाफ कार्रवाई तो कर दी लेकिन 24 घंटे बाद ही मंडल उपाध्यक्ष के खिलाफ आधा दर्जन संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज कर इसकी कसक भी निकाली ली। एफआईआर में कहानी कुछ ऐसी रची कि सुनने वाले भी दंग रह गए। इसके बाद थाने में दारोगा शिवबाबू यादव से बदसलूकी करने वाले एक अन्य भाजपा कार्यकर्ता शैलेंद्र सिंह को भी पुलिसिया धाराओं में लपेटकर जेल भेज दिया गया। इन घटनाओं से बीजेपी कार्यकर्ताओं में आक्रोश पनप रहा है। कप्तान सहित कुछ पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग जोर पकड़ने लगी है। कार्यकर्ता संगठन पर लगातार दबाव बनाए हुए हैं।

क्या कहते हैं जिलाध्यक्ष
जिलाध्यक्ष अभिमन्यु सिंह का कहना है कि पुलिस अपना काम कर रही है करे। शिकायत उन पुलिसकर्मियों से है जो सरकार को बदनाम करने पर तुले हैं। वे चाहते हैं कि ऐसा माहौल बने कि समाज में सरकार की गलत छवि प्रस्तुत हो। कुछ ही पुलिसवाले हैं जो इन क्रियाकलापों में लिप्त हैं। ऐसे पुलिसकर्मियों और पूरे मामले को प्रदेश नेतृत्व तक पहुंचा दिया गया है। जिले के सांसद और केंद्रीय कैबिनेट मंत्री महेंद्र नाथ पांडेय, जनपद के प्रभारी मंत्री सहित जिम्मेदार लोगों को घटनाक्रम से अवगत कराया जा चुका है। जल्द ही नतीजे सामने आएंगे। सरकार को बदनाम करने वालों के मंसूबे पूरे नहीं होंगे।

Back to top button
error: Content is protected !!