fbpx
चंदौलीराजनीतिराज्य/जिला

जानिए चकिया विधान सभा से बसपा प्रत्याशी विकास आजाद के बारे में, पिता रहे बसपा के संस्थापक सदस्य व सांसद

चंदौली। यूपी विधान सभा चुनाव की आहट मिलने लगी है। पार्टियों ने धीरे-धीरे अपने पत्ते भी खोलने शुरू कर दिए हैं। इसी क्रम में बसपा ने सुरक्षित चकिया विधान सभा से विकास आजाद को प्रत्याशी घोषित किया है। 45 वर्षीय विकास आजाद पिछले आठ वर्षों से सक्रिय राजनीति में हैं। पिता स्वर्गीय गांधी आजाद राज्य सभा सांसद और बसपा के राष्ट्रीय महासचिव रह चुके हैं। कांशीराम के साथ पार्टी के संस्थापक सदस्य भी थे। बसपा प्रमुख मायावती के कहने पर सासाराम से पूर्व लोकसभा स्पीकर मीरा कुमार के खिलाफ चुनाव मैदान में उतर गए थे। मूलतः आजमगढ़ के रहने वाले विकास अब चकिया विधान सभा के छितों में रहते हैं।

पहली दफा मिला टिकट
विकास आजाद पिता के निधन के बाद राजनीति में सक्रिय हुए। बसपा जिला प्रभारी, लोक सभा प्रभारी, मंडल संयोजक और मंडल कोआर्डिनेटर की जिम्मेदारी निभा चुके हैं। इनकी सक्रियता को देखते हुए पहली दफा इन्हें विधान सभा का टिकट मिला है। इलाहाबाद विश्वविद्यालय से स्नातक और कानपुर यूनिवर्सिटी से स्नातकोत्तर की शिक्षा प्राप्त कर चुके हैं।

बसपा की नीतियों को लेकर चुनावी मैदान में
बसपा पिछले 10 वर्षों से यूपी की सत्ता से दूर है। बावजूद आगामी चुनाव परिणाम को लेकर विकास आजाद काफी आशांवित हैं। विकास कहते हैं कि 2007 की बसपा सरकार और इसके बाद की सरकारों के कार्यकाल की तुलना करें तो पाएंगे कि बसपा सरकार का कार्यकाल सबसे बेहतर रहा। जनता भी इस बात को महसूस कर रही है। रही मेरी बात तो पार्टी और समाज ने जो दिया उसे वापस लौटाने के लिए राजनीति में आया और इसी उद्देश्य से चुनाव लड़ने जा रहा हूं।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!