fbpx
चंदौलीनिकाय चुनाव

Chandauli News : बूथों पर पहुंची पोलिंग पार्टियां, मतदान कल, जिले के चारों निकायों में 1.57 लाख मतदाता अध्यक्ष के 33 व सभासद के 354 प्रत्याशियों की किस्मत का करेंगे फैसला

चंदौली। जिले में निकाय चुनाव के लिए पहले चरण में चार मई को मतदान होगा। इसके लिए एक दिन पहले यानी बुधवार को पोलिंग पार्टियां बूथों पर पहुंच गईं। चारों निकायों में 1.57 लाख मतदाता गुरुवार को नगर पालिका चेयरमैन व नगर पंचायत अध्यक्ष के 33 प्रत्याशियों और वार्ड सभासदों के 354 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला करेंगे। संवेदनशील, अतिसंवेदनशील बूथों पर प्रशासन की पैनी नजर रहेगी। मतदान की वीडियोग्राफी कराने के साथ ही अतिरिक्त फोर्स तैनात की जाएगी। चुनाव में अशांति फैलाने वाले अवांछनीय तत्वों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

बुधवार की सुबह दस बजे से पोलिंग पार्टियों की रवानगी शुरू हुई। केंद्रीय विद्यालय पीडीडीयू नगर व चकिया नगर पंचायत कार्यालय से पोलिंग पार्टियां रवाना की गईं। जिला निर्वाचन अधिकारी निखिल टी फुंडे व पुलिस अधीक्षक अंकुर अग्रवाल ने मतदान कार्मिकों की रवानगी का जायजा लिया। कार्मिकों को बैलेट बाक्स, मतदान में इस्तेमाल होने वाली जरूरी स्टेशनरी व अन्य सामग्री देकर वाहनों में बैठाकर रूट चार्ट के अनुसार बूथों पर भेजा गया, जो शाम तक पहुंच गईं।

चारों निकायों में 157767 मतदाता हैं। पीडीडीयू नगर पालिका में एक लाख 828, चंदौली नगर पंचायत में 23,281, सैयदराजा नगर पंचायत में 16,784 और चकिया में 15,244 मतदाता शामिल हैं। पीडीडीयू नगर पालिका परिषद में अध्यक्ष के छह और 25 वार्ड में सभासाद के 164 प्रत्याशी मैदान में हैं। चंदौली नगर पंचायत अध्यक्ष के लिए 12  और 15 वार्डो में सभासद पद के लिए 64 प्रत्याशी मैदान में है। इसके अलावा नगर पंचायत चकिया में अध्यक्ष पद के छह और 12 वार्डों में सभासद के 57 प्रत्याशी मैदान में हैं। इसी प्रकार सैयदराजा नगर पंचायत अध्यक्ष पद के लिए नौ तथा 13 वार्ड में 69 प्रत्याशी सभासद का चुनाव लड़ रहे हैं। चार मई को प्रत्याशियों की किस्मत बैलेट बाक्स में बंद हो जाएगी। सुबह सात से शाम छह बजे मतदान होगा। मतदान के बाद सदर व सैयदराजा नगर निकाय के बैलेट बाक्स मुख्यालय के पालिटेक्निक कालेज में बने स्ट्रांग रूम में रखे जाएंगे। इसी प्रकार पीडीडीयू नगर का केंद्रीय विद्यालय के स्ट्रांग रूम में रखा जाएगा। 13 मई को मतगणना के बाद ही पता चल पाएगा कि आखिर जनता ने किस पर भरोसा जताया और किसे नकार दिया।

Back to top button
error: Content is protected !!