fbpx
चंदौलीराजनीतिराज्य/जिला

सपा, कांग्रेस के आंदोलन पर भाजपा नेता ने कही यह बात, दी नसीहत

चंदौली। किसान बिल को लेकर कुछ राज्यों में आंदोलनरत किसानों के समर्थन में विपक्षी दल सपा और कांग्रेस भी उतर चुके हैं। विरोध प्रदर्शन के जरिए किसानों की आवाज बुलंद कर रहे हैं। बीते सोमवार को सपाइयों ने प्रदेश सहित पूर्वांचल के तकरीबन सभी जनपदों में पदयात्रा निकाली और गिरफ्तारी दी। वहीं मंगलवार को कांग्रेस पार्टी जिला मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन कर रही है। लेकिन भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष और किसान मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष राणा प्रताप सिंह विपक्षी दलों के इस कदम को वोट बैंक की राजनीति के अधिक कुछ भी मानने को तैयार नहीं। उनका कहना है कि यह बिल किसान हितैषी है और आय तो बढ़ाने वाला है। राणा प्रताप सिंह ने सपा और कांग्रेस के नेताओं को नसीहत दी है कि पहले बिल के बारे में जान लें और अच्छे से पढ़ लें उसके बाद आंदोलन का मन ही बदल जाएगा।
किसान मोर्चा प्रदेश उपाध्यक्ष राणा प्रताप सिंह कहते हैं कि आंदोलन कर किसानों के हितैषी बनने का नाटक कर रहे सपा और कांग्रेस के नेताओं को तो ठीक से पता भी नहीं होगा कि किसान संशोधन बिल क्या है। पूछा जाए तो बता भी नहीं सकेंगे कि यह बिल क्या है और सरकार ने इसमें क्या प्राविधान किए हैं। अपने अदूरदर्शी नेताओं के कहने पर डंडा-झंडा लेकर आंदोलन करने निकल पड़े हैं। यह बहुत ही हास्यास्पद स्थिति है। कहा भाजपा की सरकार ने अब तक किसानों के लिए जो किया है या कर रही हैं किसी भी दल ने नहीं किया। आज किसान खुशहाल है तो वह मात्र केंद्र और प्रदेश सरकार की देन है।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button