fbpx
चंदौलीराजनीति

पूर्व विधायक ने जिला प्रशासन व जनप्रतिनिधियों पर लगाया संवेदनहीनता का आरोप, यह है मामला

चंदौली। नियमताबाद विकासखंड के हीरामणपुर गांव निवासी एनएसजी कमांडो 41 वर्षीय राकेश कुमार यादव की बैगलुरू के सैनिक छावनी में प्रशिक्षण के दौरान मौत हो गई। उनके निधन की सूचना मिलते ही परिवार में मातम छा गया। मंगलवार को जवान का शव पैतृक आवास पहुंचेगा। यहां उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। सैयदराजा के पूर्व विधायक और सपा के राष्ट्रीय सचिव मनोज सिंह डब्लू शोक संतृप्त परिवार से मिले और ढाढस बंधाया। इस दौरान परिजनों की तकलीफ सुन पूर्व विधायक भी हैरान रह गए। उन्होंने जिला प्रशासन और सत्ता पक्ष के जनप्रतिनिधियों पर संवेदनहीन होने का आरोप लगाया। कहा कि सेना के एक जवान की मौत हुई है और जिला प्रशासन का एक भी प्रतिनिधि परिजनों से मिलने नहीं पहुंचा। सत्ता पक्ष का कोई भी नेता यहां ढांढस बंधाने नहीं आया।

भाजपा के लोग खुद को देश प्रेमी कहते हैं, लेकिन उनका देश प्रेम साफ देखने को मिल रहा है। क्या एक सैनिक के परिवार के प्रति उनकी यही संवेदनशीलता है। सेना के जवान की ड्यूटी के दौरान ही मौत हुई। ऐसे में उसे भी उचित सम्मान मिलना चाहिए। पूर्व विधायक ने सैनिक के नाम पर सिंहद्वार बनवाने का आश्वासन दिया। कहा कि इसको लेकर जिला पंचायत से बात की जाएगी। उन्होंने मृत सैनिक की पत्नी को सरकारी नौकरी और उचित मुआवजा दिए जाने की मांग की। यह भी कहा कि शोक की इस घड़ी में पूरी समाजवादी पार्टी सैनिक के परिवार के साथ खड़ी है। जो भी बन सकेगा सहयोग करने से पीछे नहीं हटेंगे।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!