fbpx
चंदौलीप्रशासन एवं पुलिसराज्य/जिला

chandauli news: चंदौली पुलिस के दो दारोगा हुए रिटायर, एसपी ने बताया सेवानिवृत्ति पर क्यों दिया जाता है छाता और भागवत गीता

जय तिवारी
चंदौली। चंदौली पुलिस में कार्यरत दो दारोगा अपनी अधिवर्षता आयु पूर्ण कर सेवानिवृत्त हो गए। उप निरीक्षक जटाशंकर तिवारी और लालमुनी राम को भावभीनी विदायी दी गई।

 

अपर पुलिस अधीक्षक आपरेशन सुखराम भारती की मौजूदगी में पुलिस लाइन स्थित सभागार कक्ष में आयोजित विदायी समारोह में दोनों पुलिस अधिकारियों के उत्तम स्वास्थ्य और सुखमय जीवन की कामना के साथ उपहार प्रदान कर भावभीनी विदायी दी गई। अधिकारियों ने बताया कि दोनों ही पुलिसकर्मियों का कार्यकाल काफी अच्छा रहा। इन्होंने पूरे मनोयोग के साथ अपना कार्य किया। मुगलसराय कोतवाली में भी विदायी समारोह का आयोजन कर उप निरीक्षक जटाशंकर तिवारी को विदायी दी गई।

 

जानिए क्यों दिया जाता है छाता, शाल और गीता
पुलिस विभाग की परंपरा के अनुसार सेवानिवृत्त कर्मचारियों को भागवत गीता, छाता और शाल प्रदान किया गया। एसपी अंकुर अग्रवाल ने बताया कि रिटायर होने पर पुलिसकर्मियों को भागवत गीता, छाता और शाल देने के पीछे एक उद्देश्य जुड़ा है। शाल सम्मान का प्रतीक है तो भागवत गीता इसलिए दी जाती है कि ड्यूटी के दौरान पूजा अर्चना में जो कमी रह गई खाली समय में उसे पूरा करें। छाता यह दर्शाता है कि कहीं भी आने-जाने के लिए स्वतंत्र हैं साथ ही महकमे की छत्रछाया हमेशा बनी रहेगी।

Back to top button
error: Content is protected !!