fbpx
चंदौलीप्रशासन एवं पुलिसराज्य/जिला

पशुओं के लिए हरा चारा उगाएंगे पशुपालन विभाग के अधिकारी, चंदौली डीएम का फरमान

चंदौली। जिलाधिकारी संजीव सिंह ने मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में गोवंश आश्रय स्थलों में सुविधाओं को लेकर चर्चा की। पशुओं के लिए हरा चारा उगाने, उनके स्वास्थ्य की जांच करने और शासन के मानक के अनुरूप इंतजाम कराने का निर्देश दिया। लापरवाही मिलने पर संबंधित अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की चेतावनी दी।

डीएम ने कहा जिले की समस्त गौशालाओं की नोडल अधिकारी नियमित जांच करें। वहां चारा-पानी समेत अन्य इंतजाम होने चाहिए। इसके लिए जितनी धनराशि की जरूरत है, तत्काल भुगतान किया जाएगा। आश्रय स्थलों में सफाई व्यवस्था मुकम्मल होनी चाहिए। साथ ही पशुओं के स्वास्थ्य की भी समय-समय पर जांच की जाए। यदि कोई बेसहारा पशु सड़क पर घूमता दिखे, तो उन्हें तत्काल आश्रय स्थल पहुंचाया जाए। बोले, कई स्थानों पर चारागाह की भूमि है। इस पर कृषि विभाग की मदद से हरा चारा उगाया जाए। पशुओं को नियमित हरा चारा मिलना चाहिए। पशुओं की संख्या का हमेशा मिलान करते रहें। वहीं मरने वाले पशुओं का आंकड़ा भी दर्ज किया जाएगा। आश्रय स्थलों में रखे गए पशुओं की टैगिंग कराई जाए। अधिकारियों की टीम आश्रय स्थलों का भ्रमण करे, जहा भी जलजमाव की स्थिति है, वहां तत्काल मिट्टी भराई का काम कराया जाए। उन्होंने विभागीय अधिकारियों से 15 दिनों के अंदर गोवंश आश्रय स्थलों में रखे गए पशुओं के बारे में पूरी रिपोर्ट मांगी। पशुओं के गोबर से जैविक खाद बनाने के लिए लोगों को जागरूक किया जाएगा। इसके लिए नैडेफ के गड्ढे बनवाए जाए। निराश्रित पशुओं का भरण-पोषण करने वाले पालकों को निर्धारित धनराशि का भुगतान नियमित किया जाना चाहिए। इसमें किसी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने सभी एसडीएम को तालाब की जमीन से अतिक्रमण हटवाने के निर्देश दिए। सीडीओ अजितेंद्र नारायण, डीएपओ दिनेश सिंह, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डाक्टर एसपी पांडेय, एएसपी दयाराम, उपायुक्त मनरेगा धर्मजीत सिंह, डीपीआरओ ब्रह्मचारी दुबे समेत विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Back to top button