fbpx
वाराणसी

Varanasi News : IIT BHU: छात्रा से छेड़छाड़ नहीं बल्कि हुआ था सामूहिक दुष्कर्म, मजिस्ट्रेट के सामने पीड़िता ने बताई सच्चाई

वाराणसी। आईआईटी बीएचयू में छात्रा के साथ छेड़छाड़ ही नहीं बल्कि सामूहिक दुष्कर्म हुआ था। बताया जा रहा है की छात्रा द्वारा मजिस्ट्रेट के सामने जो बयान दिया गया है उसमें गैंगरेप की बात सामने आने के बाद वाराणसी के लंका थाने की पुलिस द्वारा गैंगरेप की धारा भी बढ़ाई गई है।

बताया जा रहा है कि तीन आरोपियों ने बंदूक से डरा धमका कर पहले छात्र को निर्वस्त्र किया था। निर्वस्त्र करने के बाद आरोपियों ने छात्रा का वीडियो बनाया और उसके बाद लोगों ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया था। पहले यही बात सामने आई थी की छात्रा के साथ छेड़छाड़ की गई और वीडियो बनाया गया। लेकिन बुधवार को मजिस्ट्रेट के सामने पेशी के दौरान पीड़िता का बयान दर्ज किया गया। इस दौरान यह बात सामने आई की छात्रा के साथ गैंगरेप भी हुआ था। ऐसे में इस मामले में आईपीसी की धारा 376 डी बढ़ाई गई है।

मीडिया रिपोर्ट की माने तो इस मामले को लेकर पुलिस अधिकारियों द्वारा जल्दी प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित किया जा सकता है। दरअसल, आईआईटी बीएचयू की एक छात्रा अपने क्लासमेट के साथ 1 नवंबर की रात में किसी आवश्यक काम से जा रही थी। इसी दौरान उसके साथ दरिंदगी की गई। घटना को हुए 8 दिन बीत जाने के बाद भी अभी तक पुलिस के हाथ खाली हैं। हालांकि आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस द्वारा परिसर के साथ ही हाईवे और आसपास के सड़कों पर लगे सीसीटीवी कैमरे भी खंगाले गए।

इस मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी करने के लिए काशी हिंदू विश्वविद्यालय के छात्रों द्वारा धरना प्रदर्शन भी किया गया। बुधवार को हुए धरना प्रदर्शन में करीब 5000 से अधिक छात्र-छात्राएं शामिल थे। इसके अलावा बुधवार शाम छात्र-छात्राओं द्वारा जस्टिस रैली भी निकल गई। नाराज स्टूडेंट बुधवार को डायरेक्टर ऑफिस के बाहर धरने पर बैठ गए। छात्र-छात्राओं द्वारा कहा गया कि इस मामले में आरोपियों की जब तक गिरफ्तारी नहीं होगी तब तक धरना समाप्त नहीं होगा। हालांकि सूचना मिलने के बाद मौके पर अधिकारी पहुंचे और धरना प्रदर्शन कर रहे छात्र-छात्राओं को समझाकर किसी तरह उन्हें शांत कराया गया और अब धरना समाप्त हो चुका है।

Back to top button
error: Content is protected !!